Friday, December 26, 2008

खूबसूरती क्या है?

मैने खुदा से पूछा कि खूबसूरती क्या है?
तो वो बोले ::::
खूबसूरत है वो लब जिन पर दूसरों के लिए एक दुआ है
खूबसूरत है वो मुस्कान जो दूसरों की खुशी देख कर खिल जाए
खूबसूरत है वो दिल जो किसी के दुख मे शामिल हो जाए और किसी के प्यार के रंग मे रंग जाए
खूबसूरत है वो जज़बात जो दूसरो की भावनाओं को समझे
खूबसूरत है वो एहसास जिस मे प्यार की मिठास हो
खूबसूरत है वो बातें जिनमे शामिल हों दोस्ती और प्यार की किस्से कहानियाँ
खूबसूरत है वो आँखे जिनमे कितने खूबसूरत ख्वाब समा जाएँ
खूबसूरत है वो आसूँ जो किसी के ग़म मे बह जाएँ
खूबसूरत है वो हाथ जो किसी के लिए मुश्किल के वक्त सहारा बन जाए
खूबसूरत है वो कदम जो अमन और शान्ति का रास्ता तय कर जाएँ
खूबसूरत है वो सोच जिस मे पूरी दुनिया की भलाई का ख्याल

D se dosti,
D se dushmani,
D se dil,
D se dard,
D se dillagi,
D se deewangi,
But...........
D se itna bhi door na ho jana ke
H se Hamara saath hi chhut jaye.

Sawaal paani ka nahin, pyaas ka hai.
Sawaal maut ka nahin, saans ka hai.
Dost to duniya mein bahut hai magar,
Sawaal dosti ka nahin VISHWAS ka hai..

2 comments:

उन्मुक्त said...

खूबसूरत है वह जो खूबसुरत काम करे।

हिन्दी में और भी लिखिये। कृपया वर्ड वेरीफिकेशन हटा लें। मेरी उम्र के लोगों को यह तंग करता है।

उन्मुक्त said...

खूबसूरत है वह जो खूबसुरत काम करे।

हिन्दी में और भी लिखिये। कृपया वर्ड वेरीफिकेशन हटा लें। मेरी उम्र के लोगों को यह तंग करता है।